शिक्षा

अपेक्षित आयामों और कौशल का एक अच्छा ज्ञान केवल सेवा वितरण के मूल्य बृद्धि में ही सहायक नहीं है अपितु परामर्शदाता के लिए ब्रांड निर्माण में भी मदद करता है । इस आवश्य्कता को समझते हुए परामर्श विकास केंद्र बिट्स पिलानी के सहयोग से एक दो वर्ष की अवधी का परामर्श प्रबंधन (कंसल्टेंसी प्रबंधन मैनेजमेंट) में अद्वितीय एमबीए पाठ्यक्रम एवं प्रबंधन परामर्श में प्रमाणपत्र कार्यक्रमों तथा निम्नलिखित उद्देश्यों के साथ तकनीकी परामर्श आयोजित करता है :

  • परामर्श में प्रशिक्षित और योग्य पेशेवरों का संग्रह त्तैयार करने के लिए
  • परामर्श परिदृश्य, बाजार, इसके विकास और भविष्य की चुनौतियों का व्यापक अवलोकन प्रदान करने के लिए
  • परामर्शदाता की भूमिकाओं और कार्यों पर अंतर्दृष्टि प्रदान करने और परामर्श में व्यवसाय के लिए वांछनीय ज्ञान, कौशल और व्यवहार की बुनियादी समझ प्रदान करना
  • आवश्यक उपकरण, तकनीक और प्रक्रियाओं के साथ पेशेवरों को परिचित करने एवं ग्राहक संगठनों के लिए इष्टतम व्यापार समाधान प्रदान करने के लिए जिससे कि कारोबार के विकास को बढ़ावा मिल सके
  • उद्योग में काम करने वाले पेशेवरों को तैयार करने के लिए एवं विभिन्न हितधारकों अर्थात सरकारी क्षेत्र के संगठनों / सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों, निजी निगमों, छोटे और मझौले उद्यम आदि के अपने आतंरिक परामर्श भूमिकाओं के लिए तैयार करने के लिए

परामर्श विकास केंद्र ने परामर्श के व्ययसाय में, अपने विभिन्न शैक्षिक कार्यक्रमों के माध्यम से प्रशिक्षित और योग्य पेशेवरों के विशाल संग्रह का सुगम निर्माण किया है ।

पेज अंतिम अपडेट: 24/08/2017

कॉपीराइट © 2014 CDC, सभी अधिकार सुरक्षित.
IE 8+ और एफएफ 34.0.5+ @ 1280 x 960 में सर्वश्रेष्ठ देखा गया
द्वारा डिज़ाइन और विकसित v2Web