सहयोग

बिरला प्रौद्योगिकी और विज्ञान संस्थान, पिलानी

२१ जनवरी, १९९५ को परामर्श विकास केंद्र, नई दिल्ली और बिरला प्रौद्योगिकी और विज्ञान संस्थान, पिलानी ने मिलकर "एम एस परामर्श कार्य प्रबंध") सहयोगी कार्यक्रम शुरू किया जिसने परामर्श व्यवसाय को देश में एक पेशे के रूप में विकास और बढ़ावा देने की दिशा में कार्य किया।

देश में अपनी तरह का यह एक अद्वितीय उच्च डिग्री कार्यक्रम है, जो न केवल घरेलू परामर्श सेवाएं विकसित करने में मदद करता है बल्कि परामर्श निर्यात को बढ़ावा देने के लिए प्रभावी जानकारी भी प्रदान करता है।

वर्ष २०१४ में इस कार्यक्रम को "परामर्श प्रबंधन में एमबीए" में परिवर्तित किया गया।

तकनीकी परामर्श संगठन (TCO)

राज्य स्तर के तकनीकी परामर्श संगठनों के सहयोग से परामर्श विकास केंद्र तकनीकी परामर्श संगठनों के माध्यम से "केन्द्रीय / राज्य सरकारों / पीएसयू और ग्राहक संगठनों के मंत्रालयों / विभागों के लिए परामर्श सेवाएं का उपयोग" पर क्षमता निर्माण कार्यक्रम आयोजित करता है।

पेज अंतिम अपडेट: 24/08/2017

कॉपीराइट © 2014 CDC, सभी अधिकार सुरक्षित.
IE 8+ और एफएफ 34.0.5+ @ 1280 x 960 में सर्वश्रेष्ठ देखा गया
द्वारा डिज़ाइन और विकसित v2Web